• Sat. Jul 13th, 2024

आयुष मंत्रालय भारत सरकार द्वारा एमएस ( आयुर्वेद) चिकित्सकों को विभिन्न शल्य कर्म करने का अधिकार दिए जाने से आयुर्वेद जगत में बहुत हर्ष है।

  • Home
  • आयुष मंत्रालय भारत सरकार द्वारा एमएस ( आयुर्वेद) चिकित्सकों को विभिन्न शल्य कर्म करने का अधिकार दिए जाने से आयुर्वेद जगत में बहुत हर्ष है।

आयुष मंत्रालय भारत सरकार द्वारा एमएस ( आयुर्वेद) चिकित्सकों को विभिन्न शल्य कर्म करने का अधिकार दिए जाने से आयुर्वेद जगत में बहुत हर्ष है। जनहित में इस प्रकार के किए गए कार्यों के लिए आयुर्वेद समाज भारत सरकार की प्रशंसा करता है और आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी एवं आयुष मंत्रालय के मंत्री एवं पदाधिकारियों को बार-बार धन्यवाद देता है। इस अवसर पर आज दिनांक 10. 12. 2020 दिन 2:00 बजे अपराहन में दयानंद आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के शिक्षक चिकित्सक छात्र एवं छात्राएं पूर्ववर्ती छात्र संघ विश्वा आयुर्वेद परिषद ,आयुष सर्विसेज एसोसिएशन ऑफ बिहार जिला इकाई इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन बिहार एवं प्रभा फाउंडेशन सिवान द्वारा महाविद्यालय के प्राचार्य सह  अधीक्षक एवं संरक्षक विश्वा आयुर्वेद परिषद बिहार प्रदेश डॉक्टर प्रजापति त्रिपाठी के नेतृत्व में धन्यवाद यात्रा निकाला गया जो आयुर्वेदिक कॉलेज से डीएवी मोर शांति वटवृक्ष थाना रोड होते हुए जयप्रकाश चौक तक गया यात्रा के अंत में पूर्वर्ती आयुर्वेदिक छात्र संघ के महामंत्री राजा प्रसाद विश्वा आयुर्वेद परिषद के जिला अध्यक्ष प्रोफेसर मनोज कुमार मिश्रा प्रदेश शिक्षक प्रकोष्ठ के सचिव प्रोफेसर डॉ सुधांशु शेखर त्रिपाठी ने आयुर्वेद चिकित्सकों को शल्य कर्म करने का अधिकार प्राप्त होने के संबंध में विस्तार से प्रकाश डाला और बताया कि आयुर्वेद में आदिकाल से शल्य कर्म का ज्ञान था दुनिया में सर्वप्रथम शल्य क्रम का ज्ञान आयुर्वेद महर्षि सुश्रुत ने दिया जिसे चिकित्सा जगत मैं इन्हें फादर ऑफ सर्जरी शल्य कर्म का जनक कहा जाता है। धन्यवाद यात्रा में प्रोफेसर डॉक्टर श्री राम पांडे डॉ उपेंद्र कुमार पर्वत डॉ मनोरंजन प्रसाद श्रीवास्तव डॉ सच्चिदानंद सिंह डॉ कमलेश कुमार पांडे डॉ विजय गणेश डॉ अरुणा शरण डॉक्टर सौरभ पाल अरूप रतन दास डॉ सतीश कुमार तिवारी एवं जिला के आयुर्वैदिक प्रैक्टिशनर आरआर कस्तूरी, डॉक्टर महेंद्र कुमार आयुर्वेद के छात्र एवं छात्राएं यात्रा में उपस्थित रहे ।

 

You missed

आज दिनांक 21 जून 2024 को दयानंद आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल सिवान(बिहार)एवं विश्व आयुर्वेद परिषद बिहार तथा भारत विकास परिषद,देशरत्न शाखा के संयुक्त तत्वाधान में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर एक योग शिविर एवं व्याख्यान जिसका शीर्षक “नारी सशक्तिकरण के लिए योग”का आयोजन महाविद्यालय के अस्पताल परिसर में किया गया।जिसका उद्घाटन महाविद्यालय के सचिव प्रोफ़ेसर डॉ0 रामानंद पांडेय,पूर्व प्राचार्य प्रोफ़ेसर डॉ0 प्रजापति त्रिपाठी एवं “प्राचार्य” प्रोफ़ेसर डॉ0 सुधांशु शेखर त्रिपाठी ने दीप प्रज्वलित कर एवं भगवान धन्वंतरी के तैल चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर किया ।

Open chat
1
Need help?
Scan the code
Welcome To
Dayanand Ayurvedic Medical College and Hospital